हनुमान जयंती को  पूरे भारत में धूमधाम से मनाया जाता है 

हनुमान जी को कई नामों से उनके भक्त पुकारते हैं

क्या आप जानते हैंकी हनुमान जयंती वर्ष में दो बार मनाई जाती है

एक बार जब हनुमान जी ने माता अंजनी के कोख से जन्म लिया था

और दूसरी बार जब जब माता सीता ने राम भक्त हनुमान को दीपावली के दिन अमर होने का वरदान दिया था

बिहार राज्य के भागलपुर शहर में बना एक अनोखा रिकॉर्ड

और क्या आप जानते हैं की हनुमान जी पर सिंदूर क्यों चढ़ाया जाता है

इसका कारण क्या है एक बार हनुमान जी ने माता सीता को सिंदूर लगाते देखा था

और उनसे पूछा कि आप यह किस कारण वर्ष लगा रही है तब मां सीता ने उन्हें समझाया की,

वह अपने पति श्री राम के लंबी आयु के लिए ऐसा करती हैं तब हनुमान जी ने अपने पूरे शरीर पर सिंदूर से लेप  कर लिया

और भगवान श्री राम के समक्ष पहुंच गए उनके ऐसे करने का कारण था

अपने प्रभु राम के लिए समर्पण और उनकी लंबी आयु की आशा